आरोप : वाराणसी में डायल 100 की लापरवाही से गयी राजमिस्त्री की जान

0
95

नारस। मंगलवार की रात एक राजमिस्त्री को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। परिजनों का आरोप है कि उसने यूपी डायल-100 के कहने पर एक ऑटो की देख रेख ली थी जिसे यूपी डायल-100 ने पकड़ा था। इस ऑटो को छुड़ाने के लिए मनबढ़ किस्म के दर्जनों लोगों ने राजमिस्त्री के घर पहुंचकर उससे ऑटो माँगा जब उसने देने से इंकार किया तो उसपर फरसे की बेट से प्रहार किया। घायल राजमिस्त्री की मंगलवार रात इलाज के दौरान मौत हो गयी। फिलहाल कैंट पुलिस इस सम्बन्ध में मुकदमा दर्ज कर अग्रिम कार्रवाई कर रही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बीते 16 जून को डायल-100 को सूचना मिली कि कुछ लोग ऐढे गांव में ऑटो में बैठकर शराब पी रहे हैं। इस सूचना पर पहुंची डायल 100 ने शराबियों को वार्निंग देते हुए ऑटो रिक्शा पकड़कर कैंट थानाक्षेत्र के ऐढे गांव के राजकुमार के देखरेख में छोड़ दिया था। रविवार की देर शाम लगभग एक दर्जन मनबढ़ अपराधी प्रवृति के युवक ऑटो को ले जाने के लिए पहुंचे। राजकुमार के द्वारा विरोध किये जाने पर बौखलाए उन युवकों ने फरसे की बेंट से राजकुमार के सर पर प्रहार कर दिया, जिससे उसको गम्भीर चोट लगने पर परिजन अस्पताल ले गए, जहां इलाज के दौरान कल देर शाम उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने इस पूरे मामले में परिजनों की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। मृतक के पिता उमाशंकर नें बताया कि राजकुमार दिन में राजमिस्त्री का कार्य तथा रात में गार्ड का काम करके अपने परिवार की रोजी रोटी चलाता था।