मां की गुहार पर कब्र से निकाला गया मृत बेटे का शव, जताई थी हत्या की आशंका

0
365

बनारस। शहर के लाट सरैया स्थित कब्रिस्तान से 6 माह पूर्व दफन की गयी एक लाश बाहर निकाली गयी। मृतक की मां को शक है कि उसके बेटे की मौत स्वाभाविक ना होकर षड्यंत्र का हिस्सा है और उसे गोली मारी गयी है। उनकी लाश डीएम के आदेश के बाद बाहर निकाली गयी और पोस्टमार्टम के लिए भेज दी गयी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार आज़मगढ़ के डॉ रफीक की मौत 23 दिसंबर 2018 को उनके ससुराल आज़मगढ़ में हो गयी। उस समय डॉक्टर की पत्नी की सहेली ने उनके आदमपुर थानाक्षेत्र के सलेमपुर स्थित डॉ रफीक के आवास पर सूचना दी की डॉक्टर साहब की हार्ट अटैक से मृत्यु हो गयी है। इसपर परिजन आजमगढ़ पहुंचे और वहां से शव लेकर यहां लाट सरैया स्थित कब्रिस्तान में दफन कर दिया।

कुछ दिनों बाद परिजनों को पता लगा कि डॉक्टर रफीक की मौत स्वाभाविक ना होकर उन्हें गोली मारी गयी है। इसपर मृतक की मां ने एसपी आजमगढ़ से मिलकर इस मामले में संज्ञान लेने की गुहार लगाई। जांच के बाद डॉक्टर रफीक के शव को कब्रिस्तान से निकलवाकर पोस्टमार्टम करवाने का फैसला लिया गया। इसी क्रम में मंगलवार को सिटी मजिस्ट्रेट और आदमपुर पुलिस की मौजूदगी में डाक्टर रफीक का शव कब्र खोदकर निकाला गया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। इस पूरी कार्रवाई की वीडियोग्राफी भी करवाई गयी है।