वाराणसी : कैंट के निर्माणाधीन फ्लाईओवर पर फिर हादसा, शंटरिंग और लोहे के गाटर गिरे, कई घायल

0
12390

शाम चार बजे काम के दौरान हुआ हादसा, निर्माण ढहने के कारण कई मजदूर फ्लाईओवर से लटके
एयरफोर्स के जवान समेत अन्‍य घायलों को भेजा गया मंडलीय अस्‍पताल, मौके पर बचाव कार्य जारी

वाराणसी। कैंट स्‍टेशन के सामने निर्माणाधीन फ्लाईओवर पर शुक्रवार को फिर हादसा हो गया। बिना रोड ब्‍लॉक लिए फ्लाईओवर पर काम चल रहा था तभी ऊपर की गई शंटरिंग और गाटर गिर पड़े। हादसे में कुलदीप राय नामक एक व्‍यक्ति गंभीर रूप से घायल हुआ है। उसे सेना का जवान बताया जा रहा हे। कुलदीप राय के साथ अन्‍य घायलों को कबीरचौरा स्थित मंडलीय अस्‍पताल भेजा गया है। मौके पर राहत और बचाव कार्य जारी है।

शाम लगभग चार बजे अचानक फ्लाईओवर पर की गई शंटरिंग भरभरा कर गिर पड़ी। बिना रोड ब्‍लॉक लिए कैंट स्‍टेशन के ठीक सामने कृष्‍णा धर्मशाला के पास निर्माण कार्य जारी था। लोहे की चादरें और गाटर लगाकर कंक्रीट बिछाने का काम जारी था। शंटरिंग ध्‍वस्‍त हो जाने के कारण ऊपर काम कर रहे चार मजदूर भी असंतुलित हो गए और फ्लाईओवर से निकली छड़ों से लटक गए। साथियों ने रस्‍सी आदि के सहारे उन्‍हें किसी तरह ऊपर खींचा। ऊपर से गिरा गाटर नीचे से गुजर रहे एयरफोर्स के जवान कुलदीप राय पर जा गिरा। कुलदीप राय के साथ एक बच्‍चा भी था।

मनोज के दाहिने पैर में गंभीर चोटें आई हैं। पैर की हड्डी चकनाचूर होकर बाहर निकल गई है। हादसे में कुछ और राहगीरों के घायल होने की भी सूचना है।

क्षेत्रीय लोगों की सूचना पर सिगरा पुलिस आननफानन में मौके पर पहुंची और घायलों को मंडलीय अस्‍पताल पहुंचाया गया। हादसे के बाद दोनों तरफ का रास्‍ता रोक दिया गया है और फ्लाईओवर की क्षतिग्रस्‍त शंटरिंग को हटाने का काम जारी है।

इससे पहले 15 मई-2018 को फ्लाईओवर की 60 टन वजनी दो बीम नीचे ट्रैफिक पर गिर पड़ी थी। हादसे में 15 लोगों की मौत हो गई थी जबकि कई अन्‍य घायल हुए थे। मामले की जांच में सेतु निगम के अधिकारियों को दोषी पाया गया था। इस मामले में अधिशासी अभियंता, प्रोजेक्‍ट मैनेजर समेत तमाम अधिकारियों को जेल जाना पड़ा था। इसके बावजूद सेतु निगम निर्माण में लगातार मानकों की अनदेखी कर रहा था। बीच-बीच में मलबा गिरने की कुछ और घटनाएं भी हुईं। संयोग था कि इनमें कोई घायल नहीं हुआ था।

देखें तस्वीरें