खुल गए शहर के सभी बाज़ार, ख़त्म हुआ दाएं बाएं का नियम, लौटी बाज़ारों की रौनक

वाराणसी। कोविड 19 से बचाव के लिए लगे लॉकडाउन के बाद अनलॉक की प्रक्रिया 1 जून से शुरू हुई। इस अनलॉक में भी शहर बनारस में कोरोना के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए जिलाधिकारी ने अपने अधिकारों का प्रयोग करते हुए जनपद के सभी बाज़ारों में दुकानों के खुलने को लेकर दाएं बाएं का नियम लागू किया था। हफ्ते के 6 दिनों में 3 दिन एक तरफ तो 3 दिन दूसरी तरफ की दुकानें खुल रही थी।

इसके बाद मुख्यमंत्री के आदेश पर पूरे प्रदेश में शुक्रवार रात 10 बजे से सोमवार सुबह 5 बजे तक 31 जुलाई तक लॉकडाउन लगाया है, जिससे एक पटरी की दुकानों को सिर्फ दो दिन का ही समय खोलने के लिए मिल पा रहा था। इससे व्यापारियों में आक्रोश था।

इस आक्रोश को ध्यान में रखते हुए जिलाधिकारी कौशल राजा शर्मा ने 25 जुलाई को नया नियम जारी करते हुए हफ्ते में चार दिन पूरे जनपद की समस्त दुकाने खोलने का ऑर्डर दिया है। इस ऑर्डर के बाद व्यपारियों में ख़ुशी देखने को मिली।

शहर बनारस की प्रसिद्द विशेश्वरगंज गल्ला मंडी, मालवीय मार्केट, दालमंडी, सिगरा, औरंगाबाद, चौक, नीचीबाग, बुलानाला, जंगमबाड़ी, मैदागिन, कबीरचौरा, लहुराबीर, मलदहिया, तेलियाबाग, अर्दली बाजार, हुकुलगंज, पांडेयपुर, लंका, भेलूपुर, गुरुबाग आदि इलाकों में बाज़ारों में रौनक देखी गयी। इस दौरान दुकानदारों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग और महामारी एक्ट के सन्दर्भ जारी कोविड एसओपी को अनुपालन किया जा रहा है।

विशेश्वरगंज के में तेल के आढ़तिया हाशिम खान ने बताया कि हफ्ते में दो ही दिन दूकान खल पा रही थी क्योंकि प्रदेश सरकार ने शनिवार को बंदी कर रखी है 31 जुलाई तक, इससे धंधे पर व्यापक असर पड़ रहा था। जिलाधिकारी महोदय द्वारा नया नियम हम व्यापारी पक्ष के लिए बहुत ही लाभकारी है। ऐसे में सभी को रोज़ अपनी इजाज़त है।

दुकानों के दोनों तरफ बाज़ारों में भीड़ देखने को मिल रही है। ऐसे में Live VNS शहरवासियों से अपील करता है कि बाज़ारों का रुख तभी करें जब बहुत ज़्यादा आवश्यकता हो तभी घरों से बाहर निकलें। घरों में रहें और केंद्र और राज्य सरकार के साथ ही साथ जिला प्रशासन द्वारा जारी गाइडलाइन का अनुपालन करें ताकि कोरोना एके संक्रमण को बढ़ने से रोका जा सके।

देखें वीडियो